Blog


06 Jun
0

कुंडली के 12 भाव

Posted By: Yagyadutt Times Read: 1962

ईश्वर का विधान है कि मनुष्य जन्म पाकर मोक्ष तक पहुंचे अर्थात प्रथम भाव से द्वादश भाव तक पहुंचे। जीवन से मरण यात्रा तक जिन वस्तुओं आदि की आवश्यकता मनुष्य को पड़ती है वह द्वितीय भाव से एकादश भाव तक के स्थानों से दर्शाई गई है।

Read more

03 Jun
0

बारवां भाव और शुक्र

Posted By: Yagyadutt Times Read: 795

शुक्र बुध का योग शुभ फल देता है लेकिन बुद्ध इस भाव में शुभ फल नही देता जिसके कारण इनके शुभ फलों में कुछ कमी अवस्य हो जाती है|

Read more

01 Jun
0

देवताओं के गुरु " बृहस्पति देव "

Posted By: Yagyadutt Times Read: 848

बृहस्पति ग्रह - सब ग्रहों में सबसे अधिक वजनी - ओर पृथ्वी से बहुत नज़दीक मात्र 37 करोड़ मील से भी कम दूरी पर है

Read more

30 May
0

IIAG ज्योतिष परामर्श

Posted By: Yagyadutt Times Read: 475

आपको आपके बच्चो की शिक्षा, शादी- विवाह, प्रोफेशन के बारे में विस्तार से समझाया जायेगा और इन सबके लिए आप परामर्श भी ले सकते हो, आपका बच्चा शिक्षा के किस क्षेत्र में सफल होगा तथा वो किस लाइन में जायेगा|

Read more

28 May
0

GEMOLOGY

Posted By: Yagyadutt Times Read: 277

may be used on the Astral basis or on the basis of the disease.

Read more

Showing 111 to 115 of 137 (28 Pages)
INDIAN INSTITUTE OF ASTROLOGY & GEMOLOGY © 2019 . All Rights Reserved | IIAG