Blog Posts Tagged As: विवाह का सप्तम भाव प्रमुख है तथा दूसरा


विवाह
09 Jul
0

विवाह

Posted By: Yagyadutt Times Read: 6

विवाह का सप्तम भाव प्रमुख है तथा दूसरा और एकादश भाव सहायक भाव हैं। सप्तम भाव कानूनी एवं सामाजिक मान्यता प्राप्त विवाह का है, दूसरा भाव विवाह के फल स्वरूप कुटुम्ब में कमी या बढ़त का है तथा एकादश भाव लम्बी मित्रता एवं लगाव का है।

Read more

Showing 1 to 1 of 1 (1 Pages)
INDIAN INSTITUTE OF ASTROLOGY & GEMOLOGY © 2019 . All Rights Reserved | IIAG